हमें Motivation की जरूरत क्यों है ?


Motivation

नमस्कार दोस्तों आज का हमारा शीर्षक है| "Motivation! Why we need this". दोस्तों हमे मोटिवशन की ज़रूरत क्यों पड़ती है...क्यों हम काफी बार इसे बड़ी शिद्दत से यूट्यूब,गूगल,इंस्टाग्राम जैसे बड़े-बड़े social platforms पर ढूंढते है | इसके बहुत से कारण हो सकते है...जैसे- या तो आप अपनी वर्तमान स्थिति से खुश नही है | या आपको फेम और बहुत सारे पैसे चाहने वाली सोच रखते है | नही! ये कोई गलत बात नही है | या आपके मन मे बहुत सारा गुस्सा/प्यार है | हाँ एक बात और बच गयी और वो है ...अपने आपको साबित करना | लेकिन इन सब के बाद भी आप कुछ नही कर पाते है | ज्यादातर ऐसा होता है कि जब आप कोई मोटिवेशनल वीडियो देख रहे होते है तब आपके अंदर बहुत सारा जोश होता है लेकिन अगले ही दिन सब गायब | वही सुबह , वही शाम | खैर! ये सब सामान्य है...मेरे साथ भी होता है कोई बड़ी बात नही है | तो क्या ये सब मोटिवेशनल की बातें बेकार है...एक सोचने वाली बात है कि क्या बिलगेट्स,जेफ बेज़ोस,मार्क जुकरबर्ग (इत्यादि) ये सब मोटिवेशनल वीडियोस देखकर ही अपने जीवन मे सफल हुए थे ? नही मुझे तो नही लगता | सफल होने के सबके अलग-अलग मायने है | जैसे- किसी को एक बड़ा बिज़नेसमैन बनना है, कोई अपनी प्रेमिका /प्रेमी को पाना चाहता है, किसी को अपने माता-पिता को खुश देखना है | इन सब मे एक बात कॉमन है और वो है "सेटिस्फिकेशन"

मेरे नज़रिये से देखा जाए तो संतुष्टि का मिलना ही सफलता है |  तो अब हम बढ़ते है हमारे टॉपिक के ऊपायो की तरफ की वास्तव में आपको करना क्या है| आपको सफल बनने के लिए ज्यादा कुछ नही करना है ...इतना भी आसान नही है यार | अगर होता तो मैं ब्लॉग ना लिख रहा होता | आपको उसके लिए कुछ रूल्स फॉलो करने होंगे | आपको एक "GOAL" सेट करना होगा | eg.- जो भी आप बनना चाहते है या आपके लिए बड़े से बड़ा | चाहे वो सरकारी नौकरी पाना हो या खुद का बिज़नेस एम्पायर खड़ा करना हो | ये तरीका सब जगह काम आएगा |

      आपको इसके लिए छोटे-छोटे टारगेट बनाने होंगे जैसे आपका जो भी काम है उसे टुकड़ो में बाँटिये स्टेप बाय स्टेप ...की  इतना काम आपको इतने दिन में करना है | और हर एक काम की डेडलाइन निश्चित रखिये की कम से कम या ज्यादा से ज्यादा आपको इतने दिन या महीने लगेंगे | अब उन कार्यो के भी छोटे-छोटे भाग बनाइये जो कि आपको प्रतिदिन पूरे करने है | दिन में कार्य करे या रात में यह ज़रूर सुनिश्चित करे कि आपको एक फिक्स टाइम अपने कार्य को देना है जैसे 2 या 3 घंटे अगर आप पढ़ाई करते है (स्टूडेंट लाइफ) तो आपको इतनी देर पढ़ना है जैसे 2 या 3 घंटे| ब्लॉग लिखते है तो उसके लिए भी टाइम फिक्स करे ...या आपका जो भी काम जो आपको पसंद हो | इन सबके लिये एक टाइम टेबल बनाये या फ़ोन में अलार्म सेट करके भी काम चल सकता है लेकिन हमे काम नही चलाना है | अगर आप ये ट्रिक एक महीने भी अपना के देखेंगे तो आप काफी पॉजिटिव फील करेंगे और धीरे-धीरे आप महसूस करेंगे कि आपको अब मोटिवेशनल वीडियोस देखने की ज़रूरत नही रही |

एक लाइन (पंक्ति) बताना चाहता हूं..." NO ONE WILL DO IT FOR YOU , YOU HAVE DO IT AT YOUR OWN". आपको अपना काम खुद करना होगा | अपना विज़न साफ रखें | दोस्तों एक छोटा सा शब्द है...पर चुभता बहुत है | शायद आपने भी सुना ही होगा #औकात सबको यही बनानी है....दोस्तो वो मोटिवशन ही क्या जो आपकी औकात बदलकर ना रख दे ..जो आज आपकी हालत है, उसे बदलने के लिए आपके पास जो कुछ भी है सब लगा दो यार | किस लिए बैठे हो यार ज़िंदगी भर घरवालो के पैसो पर ही ऐश करना है क्या! अगर मिडिल क्लास फैमिली वाले हो तो याद रखना मेरे भाई...तुम्हारे घरवाले तुम्हे ज़िन्दगी भर नही खिलाएंगे | तुम्हे बदलाव लाना होगा और उसके मेहनत करो...|

आज के लिए इतना ही दोस्तों 

जय हिन्द!                     


No comments: