समय का बेहतरीन उपयोग कैसे करे?


  समय का बेहतरीन उपयोग कैसे करे?


Motivational thoughts

नमस्कार दोस्तो, आज का हमारा शीर्षक है "समय" | दोस्तों बहुत कम लोग होते है जो समय का  सदुपयोग कर पाते है | समय का सदुपयोग करना हर किसी के बस की बात नही..हा सही तो कह रहा हूं | अपने आप को देख लीजिए | मज़ाक था छोटा सा..लेकिन सब के लिए नही | मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि हमारे आजकल के नौजवानों को PUBG और TIK-TOK से ही फुरसत नही मिल पा रही | और कुछ तो इस हद्द तक बेशर्म हो चुके है कि अगर उनके घरवाले उनको गेम के बीच मे डिस्टर्ब करदें तो उन्हीं के ऊपर चिल्लाने लगे जाते है | बोलते है मम्मी आपकी वजह से आज मैं चिकेन डिनर नही कर पाया | मेरे दोस्त अगर बंदे मारने का इतना ही शौक़ है तो इंडियन आर्मी में जा तुझे पता लग जायेगा कि कैसे करते है "चिकन डिनर" | कड़वा है पर सत्य है हम इंटरनेट की वजह से बहुत आलसी हो गए है | लगभग सब कार्य घर बैठे ही हो जाते है | पूरे दिन फ़ोन में लगे रहते है अपने मम्मी-पापा के लिए भी टाइम नही रहा | क्या फायदा ऐसे ...खैर छोड़िये | गलती इंटरनेट की नही हमारी है ..हम ही समय का उपयोग करना नही जानते कि कब क्या करना है | एक रिपोर्टर ने एक बात कही वाक़ई मुझे सत-प्रतिशत सत्य लगी कि "दिन का डेढ़ जीबी डेटा युवाओ को उनकी बेरोजगारी का आभास नही होने दे रहा है | इसी पबजी की वजह से काफी बच्चे या तो आत्महत्या कर लेते है या अपने माँ-बाप पर जानलेवा हमला करने में भी संकोच नही करते | नही किसी गेम के विरोध में नही हुँ मेरे दोस्त | मैं केवल समय की बर्बादी और पिछड़ते संस्कारो को देख रहा हूँ | और एक तरफ है टिकटोक ..इसका तो नाम लेने में भी हसी आती है मुझे ...लोग ऐसी हरकतें करते है जिससे लगता है कि आने वाले समय मे शादी करने के लिए लड़कियों की ज़रूरत पड़ेगी नही | एक काम करना ..अपने पिताजी से पूछना की पापा आप पबजी क्यों नही खेलते ? अब कुछ महानमूर्ति कहेंगे (मन ही मन) की पागल है क्या ? उनके पास इतना टाइम कहा | तो मेरे दोस्त तू अपना क्यों खराब कर रहा है ? अगर ज्यादा है तो कुछ ढंका काम ही करले ! आपके पिताजी आपकी फिक्र करते है इसलिए अपना समय बर्बाद नही करते और यही वास्विकता है | जिसके पास समय है केवल वही खराब कर सकता है(अपना समय) | एक बात जो की बिल्कुल साफ है कि इतनी सरकारी नौकरियां कभी नही आएंगी की वो अपने देश के सभी युवाओ को रोजगार प्रदान कर सके | तो ये सोचना तो बिल्कुल बेकार है कि सरकारी नौकरी ही सब कुछ है | इसलिए जितना हो सके नॉलेज इक्कट्ठा करे ..अपना समय सही जगह लगाए क्योंकि तज़ुर्बे उम्र से नही , हालातो से मिलते है जैसा कि आपने कल की कहानी में पढ़ा | सही समय या सही उम्र आएगी...ऐसा सोचने वाले मूर्ख होते है | अगर समय सही नही है तो अपने आप को इस काबिल बनाये की "सही समय" का कान पकड़ कर बोल सके कि तू आ रहा है या मैं आऊं ? इसके लिए सबसे आसान उपाय है..बहुत आसान है | आपको प्रतिदिन पढ़ना होगा | ये मत सोचना की ऐसे बोलूंगा की स्कूल या कॉलेज की किताब उठाके बैठ जाओ | वो काम  जिसमे आपका थोड़ा सा भी इंटरेस्ट है जैसे- मार्केटिंग,पेंटिंग,स्पोर्ट्स,टेक्नोलॉजी या जो भी आपको इन सब से अलग पसंद है वो | रोजाना एक से दो घंटे पढ़िए | चीजो को एनालेसिस करना सीखिए | हर कार्य के पीछे छुपा एक प्रश्न चिन्ह (QUESTION MARK) खोजिये | अपने अंदर उत्सुकता लाये | इसके लिए आप QUORA का इस्तेमाल कर सकते है | रोजाना अखबार पढ़िए , राजस्थान पत्रिका या दैनिक भास्कर नही "THE HINDU" पढ़िए | समझ न आये तब भी पढ़िए | चाहे तो एक लाइब्रेरी भी जॉइन कर सकते है | अगर मेरी ये सलाह आपने एक महीने भी मान ली ना मेरे दोस्त तो अपने आप महसूस करोगे की कुछ अच्छा ही कर रहे हो | बस एक चीज जो आपको कभी नही छोड़नी है और वो है "कंसिस्टेंसी" | ये नही बोलूंगा की तीन महीने में ही अमीर बन जाओगे लेकिन हाँ ये बिल्कुल सत्य है कि पैसो से बड़ी नॉलेज कमा लोगे | और इस तरह आप मैच्यूरिटी की तरफ बढ़ेंगे | और अगर आपको ऐसे ही पबजी और टिक-टोक पे अपना समय व्यर्थ करना है तो माफ करे मेरे दोस्त आप गलत जगह है | ये ब्लॉग आपके किसी काम का नही | क्योंकि अगर बनना है तो समंदर बनो,लोगो के पसीने छूट जाने चाहिए तुम्हारी औकात नापते-नापते | अभी के लिए इतना ही |
धन्यवाद दोस्तों !
जय हिंद! जय भारत!

No comments: